UP Bhulekh | यूपी भूलेख खसरा खतौनी नकल ऑनलाइन

In Uttar pradesh, Land records is known as various names like up bhulekh naksha, bhulekhup.bor.nic.in, up bhulekh naksha 2021, up bhulekh lucknow, upbhulekh.gov.in, up bhulekh 1951, up bhulekh map village आदि। उत्तर प्रदेश की इस योजना के तहत, राज्य के लोग अपने खसरा नंबर और जमाबंदी में प्रवेश करके अपने भूमि का रिकॉड प्राप्त कर सकते हैं। उत्तर प्रदेश सरकार की राजस्व परिषद ने भू-अभिलेखों के लिए डिजिटल पोर्टल का शुभारंभ किया है।

UP Bhulekh Khasra Khatauni

UP Bhulekh खसरा खतौनी नकल ऑनलाइन

भू-अभिलेखों से संबंधित विभिन्न कार्यों और गतिविधियों को सुव्यवस्थित और डिजिटलाइज करने का एक प्रयास है, जो पहले ऑफ़लाइन किए गए थे और इसमें बहुत समय और प्रयास शामिल था। UP Bhulekh Portal में जमाबंदी और यहां तक कि खतौनी प्रणाली जैसे सभी कार्यों को शामिल किया गया था जहां रिकॉर्ड मैन्युअल रूप से रखे गए थे। हालांकि, भूमि रिकॉर्ड से संबंधित सभी गतिविधियों को अब उत्तर प्रदेश में सफलतापूर्वक कम्प्यूटरीकृत किया गया है। भूलेख का सही मायने में अर्थ होता है जमीन का पूरा विवरण|

उत्तर प्रदेश सरकार कृषि भूमि की ऑनलाइन जानकारी जैसे कि स्वामित्व विवरण, फसल विवरण प्रदान कर रही है। यानी UP Bhulekh Portal, राष्ट्रीय भूमि रिकॉर्ड आधुनिकीकरण कार्यक्रम के तहत भारत सरकार ने सभी भूमि रिकॉर्ड को डिजिटल कर दिया है। उत्तर प्रदेश भुलेख दो हिंदी शब्दों से बना है यानी भु + लेख जहाँ भु का अर्थ है भूमि और लेख का अर्थ है विवरण या खाता।  भूलेख का सही अर्थ है भूमि से संबंधित लिखित रूप में जानकारी|

UP Bhulekh Online Overview

लेख खसरा खतौनी नकल नाम अनुसार
पोर्टल का नाम UP Bhulekh
संबंधित विभाग लैंड रिकॉर्ड रखने वाले विभाग
 भूलेख प्राधिकरण राजस्व बोर्ड/परिषद (राजस्वा परिषद), यूपी
शुरू किया गया उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थी राज्य के सभी नागरिक
 उद्देश्य ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड प्रदान करना
आवेदन शुल्क निशुल्क
हेल्पलाइन नंबर फोन नंबर 0522-2217145
ईमेल borlko@nic.in
आधिकारिक वेबसाइट https://upbhulekh.gov.in

उत्तर प्रदेश भूलेख के प्रमुख लाभ

यूपी भुलेख के कई फायदे है जो निम्नलिखित प्रकार से हैं:

  • नागरिक किसी भी स्थान पर या किसी भी समय किसी भी पोर्टल पर भूमि रिकॉर्ड की जानकारी, भूमि के नक्शे और सभी संबंधित डेटा को आसानी से देख सकते हैं। उन्हें हर समय सरकारी विभागों का दौरा नहीं करना पड़ता है।
  • आप आधिकारिक पोर्टल पर गाटा या खसरा नंबर में दर्ज करके भूमि और स्वामित्व का विवरण आसानी से देख सकते हैं।
  • यह अवैध भूमि कब्जे, भूमि कब्जाने, धोखाधड़ी, मुकदमा और अन्य अपराधों जैसे मुद्दों से निपटने में मदद करते हुए अधिक पारदर्शिता सुनिश्चित करता है।
  • यह राज्य के सभी नागरिकों के लिए वन-स्टॉप सॉल्यूशन के रूप में कार्य करता है, जिसमें वे उस जमीन के बारे में सभी अपडेट और विवरण देखते हैं।
  • जमीन के कागजात के द्वारा आप आसानी से किसी भी बैंक से  से लोन ले सकते हैं| तथा फसल बीमा ले सकते हैं |
  • इससे आप सारी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।इसके  द्वारा आप जमीन पर मालिकाना हक जता सकते हैं | क्योंकि इसमें जमीन पकी भूमि की सारा विवरण दिया होता है |
  • महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए पटवारी के कार्यालय में बार-बार भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है।

यह भी पढ़ें

UP Bhulekh- upbhulekh.gov.in Khatoni

यूपी भूलेख खतौनी जीवनचक्र के सभी महत्वपूर्ण विवरणों और भूमि की जानकारी रखता है। यह प्रणाली अधिक पारदर्शिता सुनिश्चित करती है और संगठन और नागरिक अपनी सुविधानुसार कहीं भी अपनी उंगलियों पर आसानी से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। मामूली अद्यतन प्राप्त करने के लिए उन्हें अब पटवारी या राजस्व कार्यालय का दौरा करने की आवश्यकता नहीं है।

उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल का सबसे बड़ा फायदा है इसने मैनुअल भूमि रिकॉर्ड से संबंधित मुद्दों को हल किया है और इसमें शब्द भु (भूमि) और लेख (खाता / विवरण) शामिल हैं, जिससे खाते / भूमि का विवरण रखने के लिए काम किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में अब जमीन की रजिस्ट्री की जानकारी भी ऑनलाइन हासिल की जा सकती है।

यूपी भू अभिलेखों का कंप्यूटरीकरण

जैसा की हमने आपको ऊपर बताया की उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भू अभिलेखों का डिजिटलीकरण शुरू कर दिया है। जिसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने भूलेख पोर्टल का शुभारंभ किया था। UP Bhulekh Portal के अंतर्गत सभी भू अभिलेखों का कंप्यूटरीकरण किया गया है । यूपी भूलेख पोर्टल का आरंभ 2 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के सभी तहसीलों में लागू कर दिया गया है।

उप भूलेख पोर्टल पर उत्तर प्रदेश के सभी तहसीलों की भू अभिलेखों की जानकारी उपलब्ध है। इस पोर्टल पर आपको भू अभिलेख डाटा, भू अभिलेख के मालिक की जानकारी, भू अभिलेख की जानकारी व अन्य जमीन से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त हो जाएँगी।

उप भूलेख के घटक

उप भूलेख के घटक निम्न प्रकार से हैं –

  • जमाबंदी/फर्द => जमाबंदी/फर्द में आपकी भूमि के रिकॉर्ड विवरण शामिल होते हैं। जैसे – मालिक का नाम, कल्टीवेटर का नाम, खसरा नंबर, भूमि, क्षेत्र, फसल विवरण, पट्टा विवरण आदि
  • खसरा नंबर => खसरा नंबर राज्य सरकार द्वारा कृषि भूमि को दिए जाने वाली विशिष्ट प्लॉट संख्या या सर्वे संख्या होती है
  • खाता/खेवट नंबर =>  खाता या खेवट नंबर उन मालिकों को दिए जाने वाली एक संख्या होती है, जिनके पास विभिन्न खसरा संख्या का भूमि का एक हिस्सा होता है।
  • खतौनी नंबर => खतौनी नंबर कल्टीवेटर के सेट को दी जाने वाली एक संख्या होती है, जो विभिन्न खसरा संख्याओं की भूमि के हिस्से पर खेती करता है।

यूपी भूलेख खसरा खतौनी नकल जिला वार 2021

यहां हम आपको संबंधित लैंड रिकॉर्ड पोर्टल चेक करने के लिए UP Bhulekh district wise list प्रदान कर रहें हैं। आप इन सभी जिलों में यूपी भूलेख पोर्टल का लाभ ले सकते हैं-

अमरोहा अमेठी अम्बेदकरनगर अयोध्या अलीगढ़ आगरा आजमगढ
इटावा उन्नाव एटा औरैया  कन्नौज गोरखपुर कुशीनगर
कासगंज कौशाम्बी कानपुर नगर खीरी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा
चित्रकूट चन्दौली कानपुर देहात बस्ती बदांयू बरेली जालौन
प्रयागराज मैनपुरी गौतम बुद्ध नगर बलिया फतेहपुर बहराइच बागपत
बाराबंकी जौनपुर सन्तकबीर नगर झांसी देवरिया पीलीभीत प्रतापगढ
भदोही मेरठ फर्रूखाबाद बाँदा बिजनौर रामपुर रायबरेली
लखनऊ ललितपुर फिरोजाबाद वाराणसी शामली शाहजहांपुर मुरादाबाद
श्रावस्ती मऊ मुजफफर नगर मथुरा महोबा मिर्जापुर बलरामपुर
सम्भल  सहारनपुर महाराजगंज सीतापुर सोनभद्र बुलन्द शहर  हमीरपुर
 सिद्धार्थनगर सुल्तानपुर हरदोई हापुड़ हाथरस

यूपी भूलेख जमाबंदी नकल खसरा खतौनी नाम अनुसार ऑनलाइन देखे

यदि आप जमाबंदी नकल /खसरा खतौनी नकल ऑनलाइन देखना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा –

UP Bhulekh Portal
about Uttar pradesh bhulekh
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक पेज खुल जायेगा। यहां आपको दिए गए कैप्चा कोड को भरना होगा।

Uttar Pradesh Bhulekh Online Land Records

  • कैप्चा कोड भरने के बाद “सब्मिट” पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके सामने एक और पेज खुल जायेगा, यहां आपको अपने जिला ,तहसील ,ग्राम ,खसरा /खतौनी नंबर या सर्वे नंबर या पट्टे की जानकारी का चयन करना होगा।

UP Bhulekh Khasra Khatauni

  • चयन करने के बाद आपको अपनी ज़मीन की जानकारी देनी होगी। जिसके लिए आपको निम्न विकल्प दिए जायेंगे।

Bhulekh UP Khasra Khatauni nakal

  1. खसरा/गाटा संख्या द्वारा खोजें
  2. खाता संख्या द्वारा खोजें
  3. खातेदार के नाम द्वारा खोजें
  4. नामांतरण दिनांक से खोजें
  • यहां से आप विकल्प चयन करके यूपी खाता खसरा नकल निकाल सकते हैं।
  • उदहारण के लिए हम आपको “खातेदार के नाम के द्वारा खोजें” की जानकारी प्रदान कर रहें हैं –

खातेदार के नाम द्वारा खोजें

  • इसके लिए आपको “खातेदार के नाम द्वारा खोजें” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको दिए गए बॉक्स में सर्च बॉक्स पर आपको खातेदार के नाम का पहला अक्षर लिखना होगा।
  • फिर खातेदार का नाम का चयन करना होगा। और “उध्दरण देखें” पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने वेरिफिकेशन आएगा जिसमे आपको कैप्चा कोड डालकर “continue” पर क्लिक करना होगा।

Bhulekh UP Khasra Khatauni

  • इसके बाद आपके सामने उत्तर प्रदेश खाता विवरण (अप्रमाणित प्रति) खुल जाएगी। जिसमे आपको खातेदार का नाम / पिता पति संरक्षक का नाम / निवास स्थान, खसरा संख्या, क्षेत्रफल (हे.), आदेश की पूरी जानकारी प्राप्त हो जाएगी –

राजस्व ग्राम खतौनी का कोड कैसे जाने

यदि आप यूपी भूलेख के तहत राजस्व ग्राम खतौनी का कोड जानना चाहते हो, तो इसके लिए आपको कुछ आसान से चरणों का पालन करना होगा। जो निम्न प्रकार से हैं –

code of revenue village Khatauni

  • इसके बाद आपके सामने एक पेज खुल आएगा। यहां आपको अपने जिले, तहसील तथा गांव का चयन करना होगा।
  • जैसे ही आप चयन करेंगे आपके सामने राजस्व ग्राम खतौनी का कोड दिखाई देगा।
  • इस प्रकार से आप आसानी से राजस्व ग्राम खतौनी का कोड प्राप्त कर सकते हैं –

भूखंड/गाटे का यूनिक कोड कैसे जाने

यदि आप यूपी भूलेख के तहत भूखंड/गाटे का यूनिक कोड जानना चाहते हो, तो इसके लिए आपको कुछ आसान से चरणों का पालन करना होगा। जो निम्न प्रकार से हैं –

  • इसके लिए आपको सबसे पहले उत्तर प्रदेश भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट (http://upbhulekh.gov.in/) पर जाना होगा।
  • यहां होम पेज पर आपको भूखण्ड/गाटे का यूनीक कोड जाने के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

UP Bhulekh unique code of plot / Gatte

  • इसके बाद आपके सामने एक पेज खुल आएगा। यहां आपको अपने जिले, तहसील तथा गांव का चयन करना होगा।
  • जैसे ही आप चयन करेंगे आपके सामने भूखण्ड/गाटे का यूनीक कोड दिखाई देगा।
  • इस प्रकार से आप आसानी से भूखण्ड/गाटे का यूनीक कोड प्राप्त कर सकते हैं –

भूखण्ड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति कैसे जाने

यदि आप यूपी भूलेख के तहत भूखण्ड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति जानना चाहते हो, तो इसके लिए आपको निम्न चरणों का पालन करना होगा।

  • इसके लिए आपको सबसे पहले यू पी भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहां होम पेज पर आपको भूखण्ड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति जाने के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक पेज खुल आएगा। यहां आपको अपने जिले, तहसील तथा गांव का चयन करना होगा।
  • जैसे ही आप चयन करेंगे आपके सामने भूखण्ड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति दिखाई देगी ।
  • इस प्रकार से आप आसानी से भूखण्ड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति जान सकते हैं –

भूखंड/गाटे के विक्रय की स्थिति जाने

यदि आप भूखंड/गाटे के विक्रय की स्थिति जानना चाहते हो, तो इसके लिए आपको निम्न चरणों का पालन करना होगा।

  • इसके लिए आपको सबसे पहले भू लेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहां होम पेज पर आपको भूखण्ड/गाटे के विक्रय की स्थिति जाने के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक पेज खुल आएगा। यहां आपको अपने जिले, तहसील तथा गांव का चयन करना होगा।
  • जैसे ही आप चयन करेंगे आपके सामने भूखण्ड/गाटे के विक्रय की स्थिति दिखाई देगी ।
  • इस प्रकार से आप आसानी से भूखण्ड/गाटे के विक्रय की स्थिति जान सकते हैं –

खतौनी अंश निर्धारण की नकल कैसे देखें

यदि आप खतौनी अंश निर्धारण की नकल देखना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको निम्न चरणों का पालन करना होगा।

  • इसके लिए आपको सबसे पहले भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • यहां होम पेज पर आपको खतौनी अंश-निर्धारण की नक़ल देखें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक पेज खुल आएगा। यहां आपको अपने जिले, तहसील तथा गांव का चयन करना होगा।
  • और फिर आपको अगले पेज पर अपना खसरा/गाटा संख्या दर्ज करनी होगी।
  • जैसे ही आप खसरा/गाटा संख्या दर्ज करेंगे आपके सामने खतौनी अंश-निर्धारण की नक़ल खुल जाएगी।
  • इस प्रकार से आप आसानी से खतौनी अंश-निर्धारण की नक़ल देख सकते हैं
Tags related to this article
Categories related to this article
UP Govt Scheme

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top