मेरा पानी मेरी विरासत योजना: ऑनलाइन आवेदन फॉर्म, Mera Pani Meri Virasat रजिस्ट्रेशन

Mera Pani Meri Virasat Yojana Apply Online | मेरा पानी मेरी विरासत योजना रजिस्ट्रेशन | हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना ऑनलाइन आवेदन  | Mera Pani Meri Virasat Scheme Form | mera pani meri virasat yojana registration Online

हरियाणा सरकार ने अपने राज्य के किसानों के लिए “Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana” की शुरुआत की है। इस योजना को शुरू मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी ने की है। हरियाणा के सभी किसानों की आय में बढ़ोतरी करने के लिए राज्य सरकार हमेशा से प्रयास करती आ रही है। हरियाणा राज्य में धान की खेती पर अगर किसान जैसे ,मक्का, अरहर, उड़द, ग्वार, कपास, बाजरा, तिल और बेसन मूंग आदि की फसल पैदा करते हैं तो किसानों को इस योजना के तहत 7 हजार रुपए प्रदान किए जाते हैं। मेरा पानी मेरी विरासत योजना केवल राज्य के किसानों के लिए शुरू की है।

अगर आप लोगों ने अभी तक योजना के तहत आवेदन नहीं किया है ,और अब करना चाहते हैं तो हम आपको बताएंगे की  मेरा पानी मेरी विरासत योजना क्या है , आवश्यक दस्तावेज क्या होंगे, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया, आदि की जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको हमारा यह लेख अंत तक ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा।

Mera Pani Meri Virasat Yojana 

हरियाणा राज्य में बहुत सी ऐसी जगह है, जहां पर जलस्तर काफी तेज है, और कई जगह ऐसा भी है.जहां का जलस्तर 40मीटर से भी नीचे चला गया है। जल स्तर की कम खपत करने के लिए सरकार ने उन सभी किसानों के लिए जो धान के स्थान पर अन्य वैकल्पिक फैसले जैसे मक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास, सब्जी की खेती कर रहे है। ऐसे किसानों को सरकार की और से 7 हजार रूपए प्रति एकड़ के हिसाब से दिए जाएंगे। हरियाणा राज्य में 8 ब्लॉक में कैथल के सीवन और गुहला, सिरसा फतेहबाद में रतिय और कुरूक्षेत्र में शाहाबाद, इस्माइलाबाद, पिपली और बबैन जैसी जगह पर ज्यादा धान की खेती की जाती है Haryana Mera Pani Meri Virasat Scheme के तहत उन क्षेत्रों को भी धान की खेती की अनुमति नहीं होगी।

निश्चित मात्रा में धान की खेती छोड़ने वाले किसानों को ₹7,000/एकड़ प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।https://t.co/7WnQtJ1dMd pic.twitter.com/jbyvX5knpv

— Manohar Lal (@mlkhattar) May 6, 2020

हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना का उद्देश्य

हरियाणा सरकार द्वारा शुरू की गई योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि जिन जगहों पर धान की खेती के लिए पानी की सुविधा ना हो वहां पर सिंचाई के लिए 50 हार्स पावर से अधिक क्षमता वाले ट्यूबवेल का इस्तेमाल ना करके कोई अन्य फसलों की खेती करके जिसमें पानी की कम खपत हो ऐसे फसलों की बुआई करने वाले सभी किसानों को स योजना के तहत 7 हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में दी जाएगी।

मेरा पानी मेरी विरासत ऑनलाइन आवेदन की जून लास्ट डेट

Mera Pani Meri Virasat योजना के तहत प्रदेश में धान की फसल न लगाने वाले किसानों को ₹7,000 प्रति एकड़ दे रही है सरकार, लाभ उठाने के लिए 25 जून, 2021 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं किसान। इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको fasal.haryana.gov.in में अपना पंजीकरण करवाना होगा। 25 जून इसकी अंतिम तिथि है। अपना रजिस्ट्रशन करवाने के बाद ही किसान सात हजार (7000) रुपये की राशि प्राप्त कर सकता है। इसके लिए आपको मेरी फसल मेरा व्यौरा पोर्टल पर क्लिक पर क्लिक करके ऑनलाइन पजीकरण की प्रक्रिया देखें। 

Key Highlights of Haryana Mera Pani Meri Virasat Yojana

आर्टिकल मेरा पानी मेरी विरासत
 राज्य हरियाणा
 कब शुरू हुई मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा
 विभाग कृषि विभाग
 उद्देश्य किसानो को धनराशि प्रदान करना
 लाभार्थी राज्य के किसान
 ऑफिसियल वेबसाइट यहां क्लिक करें

मेरा पानी मेरी विरासत योजना के लाभ विशेषताएं

  • Mera Pani Meri Virasat Yojana 2021 के अंतर्गत किसानो को धान की खेती छोड़ने के कोई परेशानी न हो इसलिए राज्य सरकार उन्हें आर्थिक सहायता दे रही है।
  •   योजना के तहत किसानों को मक्का तथा दलहनी खेती के लिए आवश्यक मशीनों पर जैसे ड्रिप इरिगेशन के लिए 80% सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत मक्का, हर हर, मूंग, उड़द, तिल और कपास की खेती करने पर किसानों को 7000 रूपये प्रति एकड़ की प्रोत्साहन धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • दिए गए ब्लॉकों में जो इच्छुक किसान धान की खेती छोड़ना चाहते हैं तो वह योजना के तहत अनुदान प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकते है।
  • मेरा पानी मेरी विरासत का लाभ लेने के लिए हरियाणा राज्य के किसानों को योजना में ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

Mera Pani Meri Virasat Yojana के लिए पात्रता

  • किसान हरियाणा का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
  • किसानों को अपने पिछले साल की खेती वाले धान के कम से कम 50% हिस्से में विविधता लानी होगी।
  • राज्य के जो किसान 50 HP इलेक्ट्रिक मोटर के साथ अपने ट्यूबवेल का इस्तेमाल कर रहे हैं , वह इस योजना में आवेदन करके योजना का लाभ नहीं उठा पाएंगे।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

यदि आप इस योजना के तहत आवेदन करके योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपके पास नीचे दिए गए सभी प्रकार के आवश्यक दस्तावेजों का होना अनिवार्य है।

आधार कार्ड  मोबाइल नंबर
 फोटो  भूमि के कागजात
 पहचान पत्र  बैंक पासबुक

मेरा पानी मेरी विरासत योजना में आवेदन कैसे करें

राज्य के जो इच्छुक किसान योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए आसान से चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आवेदक को योजना की Official Website पर जाना होगा।
  • ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने एक होम पेज खुलकर आएगा जैसे हमने आपको नीचे चित्र में दिया हुआ है।

  • इसके बाद आपको इस होम पेज पर “New Registration” के विकल्प पर जाना होगा। जाने के बाद आपको क्लिक कर देना है।
  • जैसे ही आप दे गए ऑप्शन पर क्लिक करेंगे आपके सामने नेक्स्ट पेज खुल जायेगा।

  • अब आपको इस पेज में अपना आधार नंबर डाल कर Next  बटन पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने एक फार्म खुल जाएगा और इस फॉर्म में पहुंची गई सभी आवश्यक जानकारी सही-सही भरनी होगी।
  • फार्म भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा और इस प्रकार आपका Haryana Mera Pani Meri Virasat yojana  के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लिए आवेदन कैसे करें

  • आपको यहां पहले अधिकारी वेबसाइट पर जाना होगा।
  • official website पर जाने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • आपको इस पेज पर बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लिए विकल्प का एक नया ऑप्शन दिखाई देगा।
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा आपके सामने एक फार्म खुल जाएगा।

  • फॉर में पूछी गई सभी आवश्यक जानकारी जैसे आधार नंबर, किसान का विवरण सही-सही भर कर  सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार  आपका बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लिए आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना में कैसे पंजीकरण करें

अगर आप भी पानी मेरी विरासत योजना के तहत अपना पंजीकरण करना चाहते हैं, तो आपको नीचे दिए गए चरणों के आधार पर पंजीकरण करना होगा।

  • यहां आवेदक को पहले हरियाणा कृषि विभाग की Official Website पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पे जाने के बाद आपके सामने एक होम पेज ओपन हो जाएगा। जैसे नीचे चित्र में दिया हुआ है।

  • इसके बाद आपको इस पेज पर “Register Farmer” के ऑप्शन पर जाकर क्लिक कर देना है।
  • जैसे ही आप दिए गए लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक और नया पेज खुल जाएगा।

  • यहां आपको योजना का चयन करना होगा। इसके बाद आपको अपने मूल स्थान विवरण, किसान का विवरण, भूमि का विवरण और बैंक का विवरण आदि दर्ज करना होगा।

  • दी गई सभी जानकारी भरने के बाद आपको आधार कार्ड की कॉपी को अपलोड करना है।
  • अपलोड हो जाने के बाद आपको लास्ट में “Submit” के बटन पर जाकर क्लिक कर देना है।

Mera Pani Meri Virasat Yojana Helpline Number

यदि आप योजना से संबंधित अन्य कोई जानकारी जानना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर और ईमेल लिखकर आप योजना से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियों घर बैठे जान सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर ईमेल आईडी कुछ इस प्रकार से है।

  • Helpline Number -1800-180-2117
  • Agriculture and Farmers Welfare Department
  • Krishi Bhawan, Sector 21, Panchkula
  • E-mail: agriharyana2009[at]gmail[dot]com, psfcagrihry[at]gmail[dot]com
  • Tel.: 0172-2571553, 2571544
  • Fax: 0172-2563242
  • Kisan Call Centre-18001801551

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top