हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना 2021: आवेदन फॉर्म, (HP Medha Protsahan) रजिस्ट्रेशन

मेधा प्रोत्साहन योजना आवेदन | मेधा प्रोत्साहन योजना एप्लीकेशन फॉर्म | HP Medha Protsahan Application Form Pdf | HP Medha Protsahan Yojana Eligibility & Online Registration

हिमाचल सरकार ने प्रदेश के गरीब और आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्गों के मेधावी छात्र- छात्राओं (SC, ST, OBC, BPL, IRDP )  को 1 लाख रुपये तक सहायता प्रदान करने के लिए “HP Medha Protsahan Scheme 2021” शुरू की है। हिमाचल प्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा विभाग द्वारा आगामी सत्र 2021-22 के लिए हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 के आवेदन पत्र जारी किए गए हैं। ऑनलाइन आवेदन फार्म भरने की प्रक्रिया पहले ही शुरू कर दी गई है। इस योजना के माध्यम से आर्थिक रूप से अत्यधिक कमजोर वर्ग (Economically Weaker Sections) के सभी छात्र छात्राएं प्रोत्साहन राशि प्राप्त करके और मुफ्त कोचिंग प्रयोजन (For Coaching Purpose for Students ) का फायदा ले सकते हैं। इस लेख के माध्यम से आप पात्रता मानदंड, योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया, उद्देश्य आदि की विस्तृत जानकारी प्राप्त करेंगे।

Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana 2020-21

Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana 2021

एचपी सरकार ने मेधावी छात्रों को अच्छे अध्ययन के लिए कोचिंग की प्रक्रिया वह आर्थिक सहायता के लिए मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 का शुभारंभ किया है। जैसा की हमने आपको ऊपर बताया की हिमाचल प्रदेश सरकार ने कोचिंग के उद्देश्य से मेधावी छात्रों को 1 लाख रुपये तक की सहायता प्रदान करने के लिए एचपी मेधा प्रोत्साहन योजना 2021-22 शुरू की है। छात्र Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana 2021 ऑनलाइन आवेदन फॉर्म www.education.hp.gov.in पर भर सकते हैं। योजना के माध्यम से मेधावी छात्र सिविल सेवा परीक्षाओं की तरह प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करने में सक्षम होंगे जो आगे उनके लिए रोजगार के अवसर पैदा करेगी। साथ ही प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए जैसे कि यूपीएससी, एसएससी, एम्स, सीएलएटी, एएफएमसी एनईईटी, आईआईटी-जेईई, आदि के लिए कॉलेज मेधावी छात्रों को ₹100000 तक की सहायता राशि प्रदान करेगा।

हिमाचल प्रदेश मेघा प्रोत्साहन योजना नियमों में कुछ संशोधन

सरकार द्वारा चलाई जा रही हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना के माध्यम से विद्यार्थी प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं कितना भी कर सकते हैं और उसके लिए उन्हें आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाएगी। साथ में छात्र ऑनलाइन कोचिंग के लिए कैसे प्राप्त कर सकते हैं। जैसा कि आप जानते हैं कि कोरोनावायरस संक्रमण के कारण सरकार ने बहुत सी योजना में संशोधन किया है इसी के अंतर्गत इस योजना के लिए भी सरकार ने नए दिशानिर्देश निकाले हैं। इसमें आवेदन करता सभी विद्यार्थियों को ऑनलाइन संस्था में आवेदन करने की अनुमति है और अपने अनुसार उनका चयन करने की अनुमति है। साथ ही 12वीं के छात्र-छात्राएं और कॉलेज में पढ़ने वाले 500 विद्यार्थियों को कोचिंग लेने के लिए सरकार एक लाख रुपए की धनराशि प्रदान करेगी।

इस धनराशि के माध्यम से अब छात्र ऑनलाइन कोचिंग प्राप्त करके अपने भविष्य सुधार सकते हैं। और अपने पर्सन दो जरूरत के अनुसार संस्थान से कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं लेकिन इसमें केवल वही छात्र वह छात्राएं आवेदन कर सकती हैं जिनकी पारिवारिक वार्षिक आय 2.5 लाख रुपए अधिकतम या उससे कम हो।

मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश 2021

इस योजना में 12वीं कक्षा में अध्यनरत सामान्य वर्ग के विद्यार्थी जोकि 11वीं कक्षा में कम से कम 75% अंक से पास हुए हो या अन्य वर्ग जैसे कि अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति, आई आर डी पी, बीपीएल वर्ग से ताल्लुक रखने वाले छात्र छात्राओं के लिए 65% अंकों का होना आवश्यक रखा गया है। HP Medha Protsahan Yojana 2021 का लाभ लेने के लिए सामान्य वर्ग के विद्यार्थी जो की इंटरमीडिएट की कक्षा को 75% से अधिक पास कर चुके हैं या आरक्षित वर्ग के सभी छात्र छात्राएं जो कि 65% अंकों के साथ 12वीं की कक्षा पास कर चुके हैं, यह सभी के लिए अनिवार्य है। साथ ही इस योजना में यह बताया गया है कि स्नातक स्तर पास करने वाले सामान्य वर्ग के छात्र-छात्राओं को कम से कम 50% व आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों को कम से कम 45% से पास होना आवश्यक है|

Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana 2021

योजना का नाम मेधा प्रोत्साहन योजना
राज्य हिमाचल प्रदेश
शुरू की गयी हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा
संबंधित विभाग हिमाचल उच्च शिक्षा विभाग
लाभार्थी प्रदेश के मेधावी छात्र-छात्राएं
लाभ 1 लाख रुपये की सहायता
उदेश्य प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कराना
आधिकारिक वेबसाइट  www.education.hp.gov.in 

हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन संस्थानों की चयन प्रक्रिया

  • सरकार द्वारा कोचिंग संस्था को तय करने के लिए कुछ दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत कोचिंग संस्थाओं में आवश्यक संख्या में शिक्षक होने अनिवार्य हैं।
  • यह शिक्षक नियमित या फिर दैनिक या फिर अंशकालिक वेतन पर हो सकते हैं। संस्था में आवश्यक आधारभूत ढांचा होना अनिवार्य है। जिसमें परिसर, पुस्तकालय आदि होने चाहिए। संस्थानों में जो कोचिंग कार्यक्रम संचालित किए जाएंगे उनमें संस्था को न्यूनतम 3 वर्ष का अनुभव होना अनिवार्य है।
  • यदि कोई संस्था ऐसी है जिसके अंतर्गत सफलता की दर काफी अधिक है तो ऐसी संस्था को 3 साल से कम काम करने पर भी पात्र माना जाएगा। वह सभी कोचिंग संस्थान जो प्रवेश परीक्षाओं के लिए कोचिंग दे रहे हैं और उनके छात्र प्रतिष्ठित संस्थानों में प्रवेश करने में सक्षम हो गए हैं उन्हें हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत प्राथमिकता प्रदान की जाएगी।
  • विभागीय वेबसाइट पर सभी छात्रों की सूची अपलोड कर दी गई है। सभी चिन्हित छात्रों को संस्था का चयन करना होगा एवं 10 फरवरी 2021 को 5:00 बजे तक medha.protsahan@gov.in पर ईमेल करके सूचना प्रदान करनी होगी |

मेधा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत ऑनलाइन कोचिंग

मेधा प्रोत्साहन योजना यह सुनिश्चित करेगी कि मेधावी छात्रों को पैसों की कमी के कारण परीक्षा की तैयारी और अपने कैरियर के निर्माण में कोई कठिनाई न हो। राज्य के भीतर या बाहर स्थित कोचिंग केंद्रों पर विशेषज्ञ संकाय के माध्यम से सभी छात्रों को मार्गदर्शन प्रदान किया जाएगा। चालू वित्त वर्ष 2021-22 के लिए राज्य सरकार 5 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।आवेदक को अंतिम तिथि से पहले आवेदन पत्र जमा करना होगा। आवेदक जो Medha Protsahan योजना जैसे पात्रता मानदंड, योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया, उद्देश्य आदि के बारे में अधिक विस्तृत जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, वे इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें। इस योजना के माध्यम से आप छात्र छात्रा अपना कोशिक स्थानों का चयन कर सकते हैं इस में 12वीं कक्षा पास और कॉलेज पास के 500 लाभार्थियों को सरकार कोचिंग करने के लिए ₹100000 की सहायता राशि प्रदान करेगी पर इसके लिए आवेदक की सालाना आय 2.5 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए। सरकार गरीब मेधावी छात्रों के अच्छे भविष्य के लिए चिंतित है तभी सरकार इनके लिए सहायता प्रदान कर रही है जिससे वह उच्च शिक्षण संस्थानों में अपना प्रवेश कर सकें।

मेधा प्रोत्साहन योजना हिमाचल प्रदेश 2021 के उद्देश्य

इस योजना के तहत लाभार्थियों को प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग के लिए 1 लाख रुपये तक की वित्तीय सहायता मिलेगी। ऐसे आवेदक जो CLAT / NEET / IIT / AIIMS / AFMC / NDA आदि और UPSC / SSC / बैंकिंग और बीमा, रेलवे आदि प्रवेश परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं और वित्तीय मुद्दों के कारण ऐसा नहीं कर पा रहे हैं, इस सरकारी योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। Medha Protsahan Yojana Himachal Pradesh के पीछे सरकार का मुख्य उद्देश्य राज्य के मेधावी छात्रों की आर्थिक रूप से सहायता करना है। यह योजना 350 उत्तीर्ण छात्रों (विज्ञान 200, वाणिज्य 75 और कला 75) और 150 स्नातकों की सहायता करेगी।

मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 के मुख्य तथ्य

 Medha Protsahan Yojana की महत्वपूर्ण विशेषताएं और मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं।

  • एचपी सरकार प्रतियोगी परीक्षाओं में उत्कृष्ट अंक प्राप्त करने के लिए कोचिंग के लिए मेधावी छात्रों को 1 लाख रुपये तक की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।
  • 12 वीं कक्षा के सभी छात्रों को प्रवेश परीक्षाओं में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए उचित मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। तो, सरकार राज्य में या राज्य के बाहर कोचिंग प्राप्त करने में उनकी सहायता करेगी।
  • इसके अलावा, कॉलेज के छात्रों को नौकरी से संबंधित परीक्षाओं के लिए कोचिंग प्रदान करने के लिए सहायता प्रदान की जाएगी।
  • संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) और कर्मचारी चयन आयोग (SSC) द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए सहायता राशि दी जाएगी।
  • छात्र CLAT, IIT-JEE, AIIMS, AFMC, NEET जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोचिंग के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • सभी स्रोतों से मेधावी छात्रों की कुल पारिवारिक आय प्रति वर्ष 2.5 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।

एचपी मेधा प्रोत्साहन योजना के लिए दस्तावेज़ पात्रता मानदंड

यदि आप HP Medha Protsahan Yojana के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास निम्न पात्रता का होना अनिवार्य है।

  1. इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवेदक को एक बोनाफाइड हिमाचली (मूल निवासी) होना चाहिए।
  2. आवेदक परिवार की आय 2 लाख 50 हजार रुपये प्रति वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  3. 12 वीं उत्तीर्ण होने की स्थिति में 50% अंक (45% अंक SC / ST) और स्नातक में के मामले में उम्मीदवारों को कम से कम 75% अंक (65% SC / ST / OBC / IRDP / BPL) का स्कोर करना होगा।

सभी उम्मीदवार जो एचपी मेधा प्रोत्साहन योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, उनके पास निम्नलिखित दस्तावेज होने आवश्यक हैं।

निवास प्रमाण पत्र आधार कार्ड आय प्रमाण पत्र
जाति प्रमाण पत्र मोबाइल नंबर  पासपोर्ट साइज फोटो

हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना 2021 आवेदन की प्रक्रिया

हिमाचल प्रदेश उच्चतर शिक्षा विभाग ने मेधा प्रत्साहन योजना के तहत प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले मेधावी छात्रों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इन आवेदनों को राज्य या अन्य राज्यों में उच्च शिक्षा विभाग द्वारा चिन्हित संस्थानों से कोचिंग लेने वाले उम्मीदवारों से आमंत्रित किया गया है, जो CLAT / NEET / IIT / AIIMS / AFMC / NDA आदि और UPSC / SSC / बैंकिंग और बीमा, रेलवे, प्रवेश आदि की तैयारी कर रहे हैं। HP Medha Protsahan Yojana Application Form पीडीएफ फाइल में मौजूद है जिसे नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकता है।

Medha Protsahan yojana-year 2021-22 application form PDF

  • यहां से फॉर्म डाउनलोड करने के बाद आपको सभी पूछी गई जानकारी जैसे आवेदक का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, लिंग, श्रेणी इत्यादि के साथ आवेदन पत्र को ध्यानपूर्वक भरें।
  • इसके बाद भरे हुए आवेदन पत्र को स्कैन करें और ई-मेल के माध्यम से medha.protsahan@gov.in पर भेजें।

Medha Protsahan Yojana Contact Details:

Registered Office: Directorate of Higher Education, Himachal Pradesh – Shimla(171-001)
Phone Number: 0177-265662
Fax Number: 2811247
PBX: 0177-2653575, 2653386
Email ID: dhe-sml-hp@gov.in

Important Download

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top