(फॉर्म) प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, गर्भावस्था सहायता योजना

प्रधानमंत्री गर्भावस्था सहायता योजना आवेदन | प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना ऑनलाइन फॉर्म | Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana Online | प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना आवेदन | Mantri Matritva Vandana Yojana in Hindi

प्रधानमंत्री जी ने गर्भवस्था सहायता योजना के माध्यम से पहली बार गर्भधारण करने वाली महिलाओं को और स्तनपान कराने वाली महिलाओ को 6000 रूपये आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। अब गर्भावस्था सहायता योजना 2021 को नए नाम प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना 2021 के नाम से जाना जा रहा है। इस योजना की शुरुआत माननीय पीएम मोदीजी द्वारा 1 जनवरी 2017 में की गई। आप इस योजना से जुडी सभी जानकारी जैसे की आवेदन प्रक्रिया, लाभ , उद्देश्य, लिस्ट आदि विस्तार में पता कर पाएंगे।

Mantri Matritva Vandana Yojana

यह योजना भारत सरकार द्वारा संचालित मातृत्व लाभ कार्यक्रम है। यह 2017 में पेश किया गया था और यह महिला और बाल विकास मंत्रालय द्वारा लागू किया गया है। यह पहली जीवित जन्म के लिए 19 वर्ष या उससे अधिक उम्र की गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए एक नकद हस्तांतरण योजना है। “प्रधानमंत्री गर्भावस्था सहायता योजना” महिलाओं को प्रसव और प्रसव के दौरान मजदूरी-हानि के लिए महिलाओं को आंशिक मजदूरी मुआवजा प्रदान करता है। और सुरक्षित प्रसव और अच्छे पोषण और खिला प्रथाओं के लिए शर्तें प्रदान करता है।

2013 में, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के तहत अधिनियम में वर्णित 84 6,000 रूपये के नकद मातृत्व लाभ के प्रावधान को लागू करने के लिए PM Matritva Vandana Yojana लाई गई थी। वर्तमान में, योजना को 53 चयनित जिलों में एक पायलट आधार पर लागू किया गया है और 2015-16 में 200 अतिरिक्त ‘उच्च बोझ वाले जिलों (high burden districts)’ तक इसे लागू करने के प्रस्ताव पर विचार चल रहा है। पात्र लाभार्थियों को संस्थागत प्रसव के लिए जननी सुरक्षा योजना (JSY) के तहत दिया जाने वाला प्रोत्साहन मिलेगा और JSY के तहत मिलने वाले प्रोत्साहन का मातृत्व लाभ की ओर ध्यान रखा जाएगा ताकि औसतन एक महिला को ₹ 5,000 मिल सके।

प्रधानमंत्री गर्भावस्था सहायता योजना 2021

गर्भवती महिला 6000 रूपये योजना, Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana, संगठित मातृत्व लाभ कार्यक्रम पूरे राष्ट्र को कवर करने के लिए निर्धारित है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने 2017 के नए साल में घोषणा की कि इस योजना को देश के 650 क्षेत्रों को कवर करने के लिए तैयार किया जाएगा। घोषणा के अनुसार भारत दुनिया में सभी मातृ मृत्यु का 17% हिस्सा है। देश की मातृ मृत्यु दर 130 प्रति 1,00,000 जीवित जन्मों पर आंकी जाती है, जबकि शिशु मृत्यु दर प्रति 1,000 जीवित जन्मों पर 43 अनुमानित है। उच्च मातृ और शिशु मृत्यु दर के प्राथमिक कारणों में गर्भावस्था और प्रसव के दौरान खराब पोषण और अपर्याप्त चिकित्सा देखभाल है। जिसको ध्यान में रखते हुए सरकार ने सभी गर्भवती महिलाओं को लाभ देने हेतु इस योजना का सुभारम्भ किया।

योजना का नामप्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना /PMMVY
योजना की घोषणा2016 में प्रधानमंत्री जी द्वारा
कब शुरू हुई2017
विभागमहिला एवं बाल विकास
पोर्टलpmmvy-cas.nic.in
लाभ  गर्भवती महिलाओं को नगद राशि
लाभ की राशि6 हजार रुपये
पूर्व संचालित योजनाइन्दिरा गांधी मातृत्व सहयोग
हेल्पलाइन नंबर011-23386423

मातृ वंदना योजना के तहत अपडेट

पुरानी मातृत्व लाभ कार्यक्रम के अंतर्गत 3000 रुपए की दो समान किस्ते लाभार्थी को 6000 रुपए के मातृत्व लाभ का विवरण किया जाता था। 3000 रुपए की पहली किस्त ऐसे लाभार्थी को गर्भधारण के दूसरे सेमेस्टर के बाद प्रदान की जाती थी जिन्होंने कम से कम 2 प्रसव पूर्व जांच के साथ आंगनवाड़ी केंद्र या स्वास्थ्य केंद्र में अपना पंजीकरण कराया है। बच्चे के जन्म के पंजीकरण तथा योजना की शर्तो के अनुसार बच्चे के टीकाकरण पूर्ण होने के पश्चात दूसरी किस्त दी जाती थी। लेकिन अब यह तीन किस्तों में 5000 रुपए की राशि दी जाती थी जिसकी जानकारी नीचे विस्तार पूर्वक दी गई है।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना की उदेश्य

PMMVY की कई उदेश्य हैं जिनमे से कुछ निम्न लिखित हैं –

  • गर्भावस्था, प्रसव और स्तनपान के दौरान उपयुक्त अभ्यास, देखभाल और संस्थागत सेवा के उपयोग को बढ़ावा देना।
  • महिलाओं को पहले छह महीनों के लिए प्रारंभिक और अनन्य स्तनपान सहित पोषण और खिला प्रथाओं का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करना।
  • साथ ही गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को बेहतर स्वास्थ्य और पोषण के लिए नकद प्रोत्साहन प्रदान करना।
  • और गर्भवती महिलाओ और स्तनपान कराने वाली महिलाओ और उनके बच्चे को कुपोषित होने से बचाना है तथा मृत्यु दर को कम करना।

Benefits of PM Matritva Vandana Yojana

मातृत्व वंदना योजना के लाभ के बहुत से लाभ हैं। जिनकी पूरी जानकारी निम्न प्रकार से हैं-

  • योजना का मुख्य उद्देश्य जननी और बच्चे की सही देखभाल करना हैं जिसके लिए उन्हे 6000 रूपये की आर्थिक मदद दी जायेगी। योजना को तीन चरणों में पूरा किया जाएगा । इन तीन चरणों में गर्भवती महिला को गर्भधारण के समय से प्रसव तक लाभ की राशि प्रदान की जाएगी।
  • योजना के तहत 3 चरण हैं पहले चरण में 1000 रुपये, दूसरे में 2000 रुपये एवं तीसरे में 2000 रुपये मिलेंगे इसके बाद बचे हुये 1000 रुपये उन लाभार्थियों को दिये जायेंगे जो कि अपने बच्चे को किसी अस्पताल में जन्म देते हैं और जननी सुरक्षा योजना के लाभार्थी हो।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना 2021 की किश्ते

यहां हम आपको Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana में दी जाने वाली धनराशि की किश्तों की पूरी जानकारी दे रहें हैं।

पहली किश्त (First installment) => पहली किश्त के लिए आखरी महावारी के 150 दिनों के भीतर गर्भवती महिला को आवेदन भरना होता हैं, पहली किश्त में उसे 1000 रूपए मिलते है। इसके लिए उस महिला को फॉर्म 1A भरे, एमसीपी [MCP] कार्ड की कॉपी, पहचान पत्र की फोटोकॉपी एवं बैंक पासबूक की फोटोकॉपी जमा करनी होगी। प्रथम चरण के लिए फॉर्म ए-1को डाउनलोड करने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें

Matritva Vandana Yojana Form 1-A PDF for first installment

दूसरी किश्त (Second installment) => इसके लिए कम से कम एक प्रेगनेन्सी चेक अप होना जरूरी हैं । प्रेगनेन्सी के कम से कम 180 दिनों के भीतर फॉर्म भर सकते हैं, इसके अतर्गत 2000 रूपए की किश्त मिलेगी। इसके लिए उस महिला को फॉर्म 1B भरना होगा साथ ही एमसीपी कार्ड की कॉपी जमा करनी होगी। दूसरे चरण के लिए फॉर्म 1Bडाउनलोड करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ।

Matritva Vandana Yojana Form 1-B PDF for Second installment

तीसरी किश्त (Third installment) => इस किश्त के लिए बच्चे के जन्म का रजिस्ट्रेशन करवाना होगा । बच्चे को कुछ महत्वपूर्ण टीके लग जाने चाहिये जिसमें ओपीवी, हेपेटाइटीस B आते हैं । इसके अंतर्गत भी महिला को 2000 रूपए मिलते है। इस क़िस्त के लिए महिला को फॉर्म 1C भरना होगा। इसके साथ ही उसे एमसीपी कार्ड की कॉपी, आधार कार्ड की कॉपी जमा करनी होगी। फॉर्म 1C को डाउनलोड करने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें।

Matritva Vandana Yojana Form 1- C PDF for the Third installment

Note => योजना के बचे हुए 1,000 रूपये उन महिलाओं को प्रदान किये जाएंगे जो जननी सुरक्षा योजना के लाभार्थी हो।

मातृ वंदना योजना के लिए शर्ते व किस्त

गर्भवती महिलाएं एवं स्तनपान कराने वाली महिलाएं नीचे दी गई सारणी में यथा निर्दिष्ट निम्नलिखित चरणों पर तीन किस्तों में 5000 रुपए का नगद लाभ प्राप्त करेंगे

किस्तशर्तेंराशि
पहली किस्तगर्भधारण का शीघ्र से पंजीकरण करवाने पर1000 रुपए
दूसरी किस्तकम से कम एक प्रसव पूर्व जांच कराने पर (गर्भधारण के 6 माह बाद इसका दावा किया जा सकता है)₹2000
तीसरी किस्तबच्चे के जन्म का पंजीकरण कराने पर

बच्चे के बीसीजी, हेपेटाइटिस बी या इस तरह के टीकाकरण के पहले चक्र का टीका लगवाने पर

₹2000

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना New update

भारत सरकार द्वारा की गई Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana  के तहत पहले केवल योजना में ऑफलाइन आवेदन करके योजना का लाभ दिया जाता था। लेकिन अब यह सुविधा प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया अभियान के अंतर्गत आरंभ की गई है।इस योजना में अब आप लोग अपने घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। पहले केवल सरकारी अस्पताल में प्रसव हुयी महिला को प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत लाभ प्रदान कराया जाता था। लेकिन अब योजना में कुछ बदलाव किये गए है। इस योजना का लाभ प्राइवेट हॉस्पिटल में प्रसव हुयी महिला भी उठा सकती है। योजना के माध्यम से यह धनराशि गर्भवती महिलाओं के पोषण के लिए प्रदान की जाती है। यदि आप घर बैठे योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं आपको अधिकारी वेबसाइट पर जाना होगा।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के लिए पात्रता मानदंड व आवश्यक दस्तावेज

यदि आप PMMVY का लाभ लेना चाहते हैं तो आपके पास निम्नलिखित पात्रता मानदंड व आवश्यक दस्तावेज का होना जरूरी है-

पात्रता मानदंड (Eligibility Criteria)

  • आवेदनकर्ता गर्भवती महिलाओ की उम्र 19 वर्ष से काम नहीं होनी चाहिए |
  • योजना के तहत उन महिलाओ को भी पात्र माना जायेगा जो 1 जनवरी 2017 या उसके बाद गर्भवती हुई है।

आवश्यक दस्तावेज (Required Documenets)

माता पिता दोनों का पहचान पत्रबच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
माता पिता दोनों का आधार कार्डबैंक खाते की पासबुक
माता पिता दोनों का पहचान पत्र

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना गर्भपात या मृत जन्म का मामला:

  • एक लाभार्थी केवल एक बार योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र है
  • गर्भपात या मृत जन्म के मामले में, लाभार्थी भविष्य की गर्भावस्था की स्थिति में शेष किश्तों का दावा करने के लिए पात्र होगा।
  • पहली किस्त प्राप्त करने के बाद, यदि लाभार्थी का गर्भपात हो जाता है, तो वह भविष्य में गर्भावस्था की स्थिति में योजना की पात्रता मानदंड और शर्तों की पूर्ति के अधीन केवल दूसरी और तीसरी किस्त प्राप्त करने के लिए पात्र होगी। इसी तरह, यदि लाभार्थी का पहली और दूसरी किस्त प्राप्त करने के बाद गर्भपात या मृत जन्म होता है, तो वह पात्रता मानदंड और योजना की शर्तों की पूर्ति के अधीन भविष्य में गर्भावस्था की स्थिति में केवल तीसरी किस्त प्राप्त करने के लिए पात्र होगी।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना शिशु मृत्यु का मामला:

  • एक लाभार्थी केवल एक बार योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र है। यानी शिशु मृत्यु दर के मामले में, वह योजना के तहत लाभ का दावा करने के लिए पात्र नहीं होगी, अगर उसे पहले ही पीएमएमवीवाई के तहत मातृत्व लाभ की सभी किस्तें मिल चुकी हैं।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली आंगनवाड़ी कार्यकर्ता / आंगनवाड़ी कार्यकर्ता / आशा भी योजना की शर्तों को पूरा करने के अधीन पीएमएमवीवाई के तहत लाभ उठा सकती हैं।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना मुख्य विशेषताएं

  • गर्भवती महिलाओं (पीडब्ल्यू) और स्तनपान कराने वाली माताओं (एलएम) के खाते में सीधे तीन किस्तों {(i) 1000/-, (ii) 2000/- और (iii) 2000/-} में 5000 रुपये का नकद प्रोत्साहन प्रदान करना। मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य से संबंधित विशिष्ट शर्तों को पूरा करने के अधीन परिवार के पहले जीवित जन्म के लिए।
  • संबंधित किश्तों का दावा करने के लिए पात्र लाभार्थी का पंजीकरण प्राथमिक रूप से और अनिवार्य रूप से महिला एवं बाल विकास विभाग, जीएनसीटीडी के संबंधित या
  • निकटतम आंगनवाड़ी केंद्र (एडब्ल्यूसी) में किया जा रहा है।
    पीएमएमवीवाई के तहत लाभार्थियों को प्रेषण एक आधार/खाता आधारित डीबीटी परिघटना है जो एक केंद्रीय रूप से तैनात वेब आधारित एमआईएस सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन यानी कॉमन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर पोर्टल (पीएमएमवीवाई-सीएएस) के माध्यम से किया जा रहा है जो पीएफएमएस पोर्टल के साथ एकीकृत है।
  • लाभार्थी योजना की पात्रता शर्तों को पूरा करने के अधीन, लाभार्थी की अंतिम माहवारी की तारीख से 730 दिनों के भीतर ही योजना के लिए आवेदन कर सकता है। एमसीपी कार्ड में पंजीकृत एलएमपी इस संबंध में विचार की जाने वाली गर्भावस्था की तारीख होगी।
  • ऐसे मामलों में जहां एलएमपी की तारीख एमसीपी कार्ड में दर्ज नहीं है। यदि कोई लाभार्थी योजना के तहत तीसरी किस्त के दावे के लिए आ रहा है, तो ऐसे मामलों में दावा बच्चे के जन्म की तारीख से 460 दिनों के भीतर प्रस्तुत किया जाना चाहिए, जिसके बाद किसी भी दावे पर विचार नहीं किया जाएगा।
  • पात्र लाभार्थियों को संस्थागत प्रसव के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा जननी सुरक्षा योजना (जेएसवाई) के तहत मातृत्व लाभ के लिए स्वीकृत मानदंडों के अनुसार शेष नकद प्रोत्साहन प्राप्त होगा ताकि औसतन एक महिला को रु। 6000/-.

Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया

  • मातृत्व वंदना योजना 2021 में आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले अपने निकटतम आंगनवाड़ी तथा स्वास्थ्य केंद्र में जाकर पंजीकरण के लिए पहला फॉर्म लेकर तथा उसमे पूछी गयी सभी जानकारी सही से भरकर जमा कर दीजिये।
  • आवेदन पत्र से जुड़ी जानकारी व पीडीएफ डाउनलोड के लिंक नीचे दिए गए हैं।
  • इसी प्रकार आपको दूसरा व तीसरा फॉर्म भी आंगनवाड़ी तथा स्वास्थ्य केंद्र में जाकर जमा करना होगा। जिन्हे जमा करने के बाद आपको मातृत्व वंदना योजना के तहत लाभ की राशि प्राप्त हो जाएगी।

बेनेफिशरी लॉगिन करने की ऑनलाइन प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको Pradhan Mantri Vandana Yojana की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज ओपन हो जाएगा।
  • इसके बाद आपको इस होम पेज पर “Beneficiary Login” के लिंक पर जाकर क्लिक कर देना है।

  • इसके बाद आपके सामने एक और नया पेज खुलेग। इस पेज में आपको email id, password and captcha code भरना होगा।
  • सभी प्रकार की जानकारी दर्ज करने के बाद आपको लॉगिन के बटन पर जाकर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपक बेनेफिशरी में लॉगिन हो जाएगा।

नए उपयोगकर्ता के पंजीकरण की ऑनलाइन प्रक्रिया

  • यहां आप पहले मातृत्व वंदना योजना की Official Website पर जाए।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज ओपन होगा।
  • इसके बाद आपको इस नए पेज पर बेनिफिशियरी लॉगइन का एक विकल्प दिखाई देगा आपको लिंक पर क्लिक कर देना है।
  • उसके बाद आपको फॉर रजिस्टरिंग न्यू यूजर के लिंक पर जाकर क्लिक करना होगा।

  • दिए गए लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक और नया पेज खुलेगा जिसमें आपको कुछ जरुरी जानकारी जैसे ,Applicant Name, Mobile Number, Email ID, Password, Captcha Code आदि भरनी होगी।
  • दी गयी सभी प्रकार की जानकारी दर्ज करने के बाद आपको रजिस्टर के बटन पर जाकर क्लिक कर देना है।
  • उसके बाद आपको अपने सभी आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • लास्ट में आपको Submit के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार से आप पंजीकरण कर सकते है।

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना फॉर्म PDF प्रिंट कैसे करे

यदि आप योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए तरीकों से भी कर सकते हैं।

  • सबसे आप मातृत्व वंदना योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाये।
  • official website पर क्लिक करने के बाद आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर वेबसाइट का एक होम पेज खुलेगा।
  • इसके बाद आपको इस पेज पर downloaded PMMVY form के विकल्प पर जाकर क्लिक करना है।
  • जैसे ही आप क्लिक करेंगे आपके सामने कुछ इस प्रकार से दो फॉर्म खुल कर आएंगे प्रथम फॉर्म के प्रिंट करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

  • जैसे ही आप  FORM 1A के दिए गए लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म का फॉर्मेट खुल जाएगा आप इसे डाउनलोड करके प्रिंटआउट कर सकते हैं।
  • उसके बाद आपको FORM 1B डाउनलोड करके प्रिंट निकालने के लिए पहले यहाँ क्लिक करना होगा।

  • जैसे ही आप दिए गए लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने फॉर्म PDF format ओपन हो जाएगा।
  • इसके बाद आप इसक आसानी से प्रिंट आउट निकाल सकते हैं।

ध्यान दें => पीएम मातृत्व वंदना योजना 2021 में आवेदन हेतु फॉर्म की सभी जानकारी व डाउनलोड करने के लिए आपको ऊपर लिंक प्रदान किये गए हैं।

PMAY के अंतर्गत लाभार्थी लिस्ट देखने की प्रक्रिया

  • यहां आप पहले PMAY की Official Website पर जाए।
  • और वेबसाइट का मुख्य पृष्ठ खुलकर आएगा। वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ में ही आपको बेनेफिशरी लॉगिन का विकल्प दिखाई देगा, आपको इस विकल्प पर क्लिक करना है।

  • क्लिक करने के पश्चात आपको लाभार्थी की ईमेल आईडी और पासवर्ड दर्ज करना है। पासवर्ड दर्ज करने के पश्चात आपको कैप्चा कोड दर्ज करके लॉगिन के बटन पर क्लिक करना है।
  • लॉगइन के बटन पर क्लिक करते ही डैशबोर्ड खुलकर आएगा।
  • अब आपको दाएं तरफ प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की बेनिफिशियरी लिस्ट देखने के लिए विकल्प दिखाई देगा। आपको इस विकल्प पर क्लिक करना है इस प्रकार से आप योजना से जुड़े लाभार्थी सूची देख पाएंगे।

अन्य महतवपूर्ण लिंक

यहां पर हम आपको कुछ महत्वपूर्ण फॉर्म प्रदान कर रहें हैं, जो आपको Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana में आवेदन करने में सहायता प्रदान करेंगे।

यदि आपका बैंक अकाउंट आधार से लिंक नहीं हैं तो इस फॉर्म 2 ए को आप भर सकते हैं।डाउनलोड PDF
और यदि आप लाभ की राशि पोस्ट ऑफिस के खाते में चाहते है, तो अपना पोस्ट ऑफिस अकाउंट आधार से लिंक करने के लिए फॉर्म 2 बी भरे।डाउनलोड PDF
यदि आपके आधार में कोई गलती हैं तो सुधार के लिए इस फॉर्म 2 सी को भरे।डाउनलोड PDF

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

यदि आप PMMVY ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए नीचे दी गई प्रक्रिया का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको पीएम मातृत्व वंदना के ऑनलाइन आवेदन की आधिकारिक में उमंग वेबसाइट मैं जाना होगा।
  • अब वेबसाइट का मुख्य पेज खुल कर सामने आ जाएगा।

  • वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ में आपको निम्नलिखित विकल्प दिखाई देंगे
    • सर्च बेनिफिशियरी
    • रजिस्टर न्यू बेनिफिशियरी
    • अप्लाई फॉर सेकंड एंड थर्ड इंस्टॉलमेंट
    • व्यू डिटेल
    • सेल्फ रजिस्ट्रेशन
    • अप्लाई फॉर स्कीम
    • करेक्शन क्यू
    • स्किन डिटेल
    • ट्रेनिंग वीडियो
  • इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले उमंग ऐप पर अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। उमंग ऐप में ऑनलाइन पंजीकरण करने के पश्चात आपको अप्लाई फॉर स्क्रीन वाले विकल्प का चयन करना होगा।
  • जैसी आप इस विकल्प का चयन करेंगे आपको अपना मोबाइल नंबर और एमपिन एंटर करना होगा उसके पश्चात कैप्चा कोड दर्ज करके लॉगइन के बटन दबाएं।
  • अब आपके सामने योजना से जुड़ी सभी जानकारी आ जाएगी और आपको वहां पर आवेदक की सभी जानकारियां दर्ज करके सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड करना होगा इस तरह से आपका इस योजना में ऑनलाइन आवेदन हो जाएगा।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर

आपको बता दे की सरकार ने इस योजना के तहत एक हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है। यदि लाभार्थियों को योजना के तहत किसी भी प्रकार की समस्या जैसे कि ,आवेदन करने, या योजना में आवेदन कर के लाभ प्राप्त ना हुआ हो। आदि की शिकायत और सुझाव के लिए आप नीचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके योजना से जुड़ी जानकारी और अपनी समस्या का हल पा सकते है।

संपर्क नंबर – 7998799804, 01123383393

email shwetasehgal1@kpmg.com

Working Hours (Monday To startday 9.30 am to 6 PM))

Ministry of Women and Child Development, Government of India
Shastri Bhawan, New Delhi, 011-23381611, nic-mwcd@gov.in, bbb.shankar60@gov.in

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top