Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya Yojana

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना क्या है, उद्देश्य, जानिए पूरी जानकारी

Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya Yojana 2021 | Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya Yojana |कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना की जानकारी और लेटेस्ट न्यूज़

केंद्र सरकार ने देश के सभी लोगों को शिक्षा देने के लिए और देश की स्थापित आदर बढ़ाने के लिए एक योजना की शुरुआत की है। जिसका नाम कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना है। इस योजना का शुभारंभ 2004 में अनुसूचित जाति, जनजाति व पिछड़े वर्ग की बालिकाओं और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए आवासीय क्षेत्र के लोगों के लिए शिक्षा देने के लिए शुरू किया है। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत पहले के 2 सालों तक एक अलग योजना के रूप में सर्व शिक्षा अभियान, बालिकाओं के लिए प्राथमिक स्तर पर शिक्षा दिलाने का राष्ट्रीय कार्यक्रम व महिला समाख्या योजना के साथ सामंजस्य बैठाते हुए की गई थी। लेकिन भारत सरकार ने 1 अप्रैल 2007 को सर्व शिक्षा अभियान में एक अलग वाद के रूम में विलय कर दिया था।

भारत सरकार द्वारा चलाई जाने वाली यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है। कस्तूरबा गांधी विद्यालय योजना के चलते देश के सभी पिछड़े वर्ग और गांव में रहने वाले अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक समुदाय और गरीबी रेखा से नीचे की लड़कियों को मुफ्त में शिक्षा दी जाती है।

Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya Yojana 

  • सभी लड़कियों को मुफ्त शिक्षा देना।
  • सभी बालिकाओं के लिए आवास उपलब्ध कराना।
  • लड़कियों के लिए पुस्तकें तथा शिक्षण सामग्री मुफ्त में उपलब्ध करवाना।
  • विषम परिस्थितियों में जीवन-यापन करने वाली लड़कियों के लिए आवासीय विद्यालय के माध्यम से गुणवत्ता युक्त प्रारंभिक शिक्षा उपलब्ध कराना है।
  • बालिकाओं के माता-पिता/अभिभावकों को प्रेरित करना ताकि लड़कियों को विद्यालयों में भेजे।
  • एक स्थान से दूसरे स्थान घूमनेवाली जाति या समुदायों की लड़कियों पर विशेष ध्यान केन्द्रित करना।
  • लड़कियों को स्कूल यूनिफार्म, स्वेटर, जूते-मोज़े आदि मुफ्त में देना।
  • ऐसी लड़कियों पर ध्यान देना जो विद्यालय से बाहर (अनामांकित) हैं तथा जिनकी उम्र 10 वर्ष से ऊपर है।
  • बालिकाओं को दैनिक उपयोग वस्तुओं इत्यादि उपलब्ध करना।
  • हर महीने 100/- बालिकओं के व्यक्तिगत बैंक खाते में जमा कराया जाना जिससे उनकी कुछ जरूतमंद चीजों को पूरा किया जा सके।

Brief details of Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya Yojana

विषय कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना
उद्देश्य बालिकाओं की शिक्षा को बढ़ावा देना
विभाग शिक्षा विभाग
लाभार्थी लड़कियां
आधिकारिक वेबसाइट यहाँ क्लिक करें

कस्तूरबा गांधी विद्यालय योजना के अंतर्गत स्कूल की स्थापना कहां कर सकते हैं

  • देश में जहाँ अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़े वर्ग और अल्पसंख्यकों की जनसंख्या अधिक हो।
  • जहां महिला साक्षरता की दर काफी निम्न और स्कूल से बाहर रहने वाली (अर्थात् स्कूल न जाने वाली) बालिकाओं की संख्या काफी अधिक हो।
  • देश में ऐसे क्षेत्र जहाँ निम्न महिला साक्षरता दर हो
  • भारत में ऐसे क्षेत्र जहाँ छोटे और बिखरे हुए निवास हों और वहां स्कूल की स्थापना संभव न हो ।

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना की विशेषताएं

  • भारत सरकार ने योजना पर 2020 तक अमल किया जाएगा |
  • केंद्र व राज्य सरकार इसमें क्रमश: 75% व 25% राशि का योगदान देंगे।

Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya Yojana में कितना आरक्षण है

केंद्र सरकार की रिपोर्ट के अनुसार कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना में कम से कम 75 प्रतिशत सीटें अनुसूचित जाति व जनजाति है, पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक वर्गों की लड़कियों के लिए आरक्षित रहेंगे। जबकि शेष 25% गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार की बालिकाओं के लिए आरक्षित रहेंगी।

Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya Yojana के अंतर्गत नया क्या है

  • भारत सरकार के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को सार्थक बनाने के लिए कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में अब 12 वीं (इंटर) तक की पढ़ाई हो सकेगी।
  • भारत में अभी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय कक्षा 6 से 8 तक ही संचालित थे।

योजना के कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर (FAQ)

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना का उद्देश्य क्या है

देश में रह रहे अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति , पिछड़ा वर्ग आदि लोगों के लिए विषम परिस्थितियों में जीवन यापन करने वाली लड़कियों के लिए आवासीय विद्यालय के माध्यम से गुणवत्ता युक्त प्रारंभिक शिक्षा उपलब्ध देना है।

योजना में आरक्षण कितना है ?

  • योजना के तहत 75% सीटें अनुसूचित जाति व जनजाति, पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक वर्गो की बालिकाओं के लिए है।
  • KGBVY के तहत 25% गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार की बालिकाओं के लिए
Tags related to this article
Categories related to this article
Uncategorized

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top