(Bal Sangopan Yojana), बाल संगोपन योजना: डाउनलोड ऑनलाइन फॉर्म पीडीएफ

Bal Sangopan Yojana Apply Online | महाराष्ट्र बाल संगोपन योजना डाउनलोड ऑनलाइन फॉर्म | Maharashtra Bal Sangopan Yojana form PDF | बाल संगोपन योजना अर्ज PDF

महाराष्ट्र सरकार ने गरीब और पारिवारिक संकट से जूझ रहे बच्चे जो कि अपनी पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं उसके लिए बाल संगोपन योजना को शुरू किया है। इस लेख से बाप यह जान पाएंगे कि बालसंगोपन योजना क्या है? और इसके तहत कौन लोग लाभ प्राप्त कर सकते हैं, साथ ही इस योजना से जुड़े महत्वपूर्ण दस्तावेज, ऑनलाइन वह आवेदन पत्र पीडीएफ की जानकारी, उद्देश्य और अन्य जानकारी प्राप्त कर पाएंगे। महाराष्ट्र सरकार ने बच्चों की पढ़ाई को बढ़ाने के लिए अनेक योजनाएं बनाई है जिनमें की Bal Sangopan Yojana बहुत ही महत्वपूर्ण है। इसलिए के माध्यम से आगे आप इस योजना की जानकारी ले पाएंगे।

 Maharashtra Bal Sangopan Yojana

महिला एवं बाल विकास विभाग अक्सर बच्चों और महिलाओं के लिए अनेक योजनाएं चलाता रहता है। वर्ष 2008 में भी इसी विभाग ने बाल संगोपन योजना का शुभारंभ किया। इस योजना के तहत बच्चों की शिक्षा के लिए हर महीने 425 रुपए की वित्तीय सहायता एकल अभिभावक को दी जाएगी। जिससे वह Bal Sangopan Yojana का लाभ अपने बच्चों की पढ़ाई और अपना दायित्व को पूरा कर पाए। अब तक इस स्कीम के माध्यम से कई लोग फायदा ले चुके हैं। इस योजना का फायदा एक अलग बात उठा सकते हैं लेकिन इसके अलावा और भी बच्चे इसका फायदा ले सकते हैं। इसके लिए सरकार ने कुछ शर्ते रखी है जैसे कि यदि परिवार आर्थिक संकट से घिरा हो, या बच्चे के माता-पिता तलाकशुदा हो, या वो किसी बीमारी कारण अस्पताल में भर्ती हो या इसके अलावा बच्चे के माता-पिता जीवित ना हो। इनमें से कोई भी कारण हो तो बच्चा इस योजना का लाभ उठा सकता है। बाल संगोपन योजना का ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है जिसकी पूरी प्रक्रिया आपको इस लेख के माध्यम से आगे बताए गए हैं।

माझी कन्या भाग्यश्री योजना

बाल संगोपन योजना का उद्देश्य

इस योजना के माध्यम से सरकार बच्चों को अध्ययन करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है साथ ही योजना का मुख्य उद्देश्य उनकी अफवाह को को को भी सहायता पहुंचाना है। Maharashtra Bal Sangopan Yojana के माध्यम से अब वह बच्चे अपनी पढ़ाई को जारी रख पाएंगे क्योंकि किसी भी कारणवश पढ़ने में असमर्थ है। Bal Sangopan Yojana के जरिए आप बच्चे अपनी पढ़ाई जारी रख सकेंगे और अपने भविष्य में सफल होकर राज्य की आर्थिक स्थिति को सुधार पाएंगे और साथ ही बेरोजगारी की दर में भी कमी आएगी।

Maharashtra Bal Sangopan Yojana Highlights

लेख बाल संगोपन योजना
शुरू की गई महाराष्ट्र सरकार
योजना के लाभार्थी महाराष्ट्र के नागरिक
योजना का उद्देश्य   बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना।
ऑफिशियल वेबसाइट https://womenchild.maharashtra.gov.in/
वित्तीय सहायता राशि Rs 425 प्रति माह
वर्ष 2021
बाल संगोपन योजना अर्ज Form PDF Download

Bal Sangopan Yojana का लाभ तथा विशेषताएं

  • यह योजना उनके लिए है जो अनुवाद किसी भी कारण बस अपने बच्चों को शिक्षा नहीं दे पा रहे हैं।
  • इसके माध्यम से सभी अभिभावक अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए वित्तीय सहायता प्राप्त कर पाएंगे।
  • Bal Sangopan Yojana के माध्यम से सरकार अभिभावकों को ₹425 की मासिक वित्तीय सहायता प्रदान करेंगे।
  • इस योजना का शुभारंभ सन 2008 में हुआ था।
  • बाल संगोपन योजना महाराष्ट्र सरकार की एक महत्वकांक्षी योजना है।
  • इस योजना को महिला तथा बाल विकास विभाग द्वारा चलाया जा रहा है।
  • इस योजना के माध्यम से अब तक हजारों परिवार लाभान्वित हो चुके हैं।
  • बालक की उम्र 1 वर्ष से ज्यादा और 18 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन फॉर्म को भर के इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है।

बाल संगोपन योजना की पात्रता

  •  महाराष्ट्र की स्थाई निवासी ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • बच्चे की आयु 1 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • 18 वर्ष और उससे कम उम्र के बच्चे इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • जो बच्चे आए थे या करोल बाग से हैं यादें करें वह इस योजना के लाभार्थी हो सकते हैं।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना

महाराष्ट्र बाल संगोपन योजना में आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • अभिभावक व बच्चे का आधार कार्ड
  • परिवार का राशन कार्ड
  • अभिभावक का पासपोर्ट साइज फोटो
  • बच्चे का पासपोर्ट साइज फोटो
  • बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र
  • यदि अभिभावक की मृत्यु हो गई है तो मृत्यु प्रमाण पत्र
  • अभिभावक का आय प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक

बाल संगोपन योजना के लिए संगठन की पात्रता, पात्रता, प्रोत्साहन सीमा और दायित्व:

  •  इस योजना के लिए, केवल सरकार को नरेन विज्ञान की खरीद का अधिकार होगा।
  • १०० से अधिक बच्चों के लिए मान्यता और अनुदान इस सरकारी संकल्प की तिथि से मान्यताप्राप्त किसी भी वैज्ञानिक संगठन को दिया जाएगा।
    विज्ञान संस्थान की पात्रता के लिए निम्नलिखित निष्कर्ष निकाले जाएंगे। परिवार और बाल कल्याण के क्षेत्र में काम की राशि 03 वर्ष के अनुभव के साथ पंजीकृत है
    संगठन इस योजना को लागू करने में सक्षम होगा। संस्था / संगठन द्वारा समाजशास्त्र (MSW) के क्षेत्र में कम से कम 02 अद्वितीय सामाजिक गतिविधियाँ होनी चाहिए। योजना के कार्यान्वयन के लिए संगठन की कार्य सहमति आवश्यक है।
  • चाइल्डकेयर योजनाओं की व्याख्या करना, बच्चों पर नज़र रखना, माता-पिता का पता लगाना, देखभाल करने वालों का मार्गदर्शन करना, निगरानी करना, घर का दौरा करना, निदेशालय की घरेलू यात्राओं को निर्देशित करना, बच्चों के लिए कंप्यूटर रिकॉर्ड रखना आदि। विज्ञान संगठन की जिम्मेदारी होगी।
  • विज्ञान संस्थान द्वारा योजना के लिए ऋण पत्र में कोई घोषणा नहीं की जानी चाहिए। पिंटूजा में सरकारी कार्यालयों जैसे अस्पतालों / पुलिस स्टेशनों / कार्यालयों के संपर्क में रहें। प्रत्येक एनजीओ द्वारा अपने नियंत्रण में भर्ती किए गए बच्चों की कम्प्यूटरीकृत व्यक्तिगत जानकारी उदा। बच्चों के नाम, जन्मतिथि, तलाक, अनाथ / सास, योजना का लाभ, पारिवारिक संकट संकट, पूरा पता, फोटो और बच्चे का यूआईडी (आधार कार्ड नंबर) आदि के बारे में जानकारी रखी जाती है। इंटरनेट पर जानकारी भी जोड़ें।

बाल संगोपन योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • आवेदन की प्रक्रिया में सबसे पहले आपको बाल एवं महिला विकास विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • वेबसाइट पर जाते ही मुख्य पृष्ठ खुल जाएगा जैसे कि ऊपर दिखाया गया है।
  • अब आपको मुख्य पृष्ठ में ही अप्लाई ऑनलाइन का विकल्प दिखेगा इसमें क्लिक करें।
  • क्लिक करते ही वेबसाइट पर आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • इस फॉर्म में कुछ जरूरी जानकारियां पूछी जाएंगी जिन्हें आपको सावधानी पूर्वक दर्ज करना है
  • सभी जानकारियों को दर्ज करने के पश्चात आपको सभी आवश्यक दस्तावेजों को वेबसाइट पर अपलोड करना है।
  • अपलोड के पश्चात सबमिट के बटन पर क्लिक करें।
  • इस प्रक्रिया के माध्यम से आप सफलतापूर्वक बालसंगोपन योजना के अंतर्गत आवेदन कर पाएंगे।

Bal Sangopan Yojana अनुदान वितरण प्रक्रिया

(1) इस योजना के तहत, संबंधित संगठन की जिम्मेदारी है कि वह लाभार्थियों के माता-पिता के नाम पर बैंक / पोस्ट खाते में अनुदान प्रदान करे। जिला मजिस्ट्रेट और बाल विकास अधिकारी संस्थानों को कोई और अनुदान वितरित नहीं करेंगे जब तक कि बैंक / पोस्ट खाता नहीं खोला जाता है, जिम्मेदारी जिला मजिस्ट्रेट और बाल विकास अधिकारी के साथ आराम करेगी।
(2) जिला मजिस्ट्रेट और बाल विकास प्राधिकरण द्वारा विज्ञान संस्थानों को मासिक आधार पर दिए गए अनुदान का भुगतान लाभार्थी परिवारों को संस्थानों द्वारा किया जाएगा।

कांटेक्ट इनफार्मेशन देखने की प्रक्रिया

  • इसके लिए सबसे पहले आपको बाल और महिला विकास विभाग महाराष्ट्र की  आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाते ही मुख्य पृष्ठ खुलकर सामने आ जाएगा।
  • यहां मुख्य पृष्ठ में आपको कांटेक्ट अस का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको इस योजना से जुड़ी सभी लोगों की सूची दिख जाएगी।
  • इस सूची से आप जिस पर विभाग की संपर्क जानकारी देखना चाहते हैं उसे प्राप्त कर पाएंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *